सावधान, यह राहु है

राहु ग्रह के कितने रूप :-

Dr.R.B.Dhawan

Top Astrologer in Delhi, best Astrologer in Delhi

राहू और केतु का नाम तो आपने सुना ही होगा। नवग्रह में राहू को क्रूर ग्रह कहा जाता है। शनि की तरह ही राहू भी बेहद परेशान करता है। यदि राहू के उपाय किए जाए तो यह शांति भी प्रदान करता है। लेकिन आज हम आपको राहू के उन रूपों के बारे में जानकारी देंगे, जिन्हें सुनकर आप दंग रह जाएंगे या फिर ये कहें कि इन रूप में आपको राहू परेशान कर सकता है। राहू के अनेकों रूप है। किसी भी जातक पर जब राहू की कुदृष्टि पड़ती है तो पता नहीं चलता कि राहू किस रूप में आपको परेशान करने के लिए आ जाए। इसलिए यदि आपकी कुंडली अथवा राशि में राहू दोष है तो जरा सावधान रहें। राहू आपको किस रूप में मिल सकता है, वह आप इस लेख के द्वारा जान पाएंगे –

सब से पहले तो यह जान लीजिए की आप के हाथ का मोबाइल फोन ही राहु है, यह वह राक्षस ग्रह है जो धीरे धीरे आप और आपके परिवार में परस्पर दूरियां बनाकर आपसी सम्बन्ध बिगाड़ रहा है, न केवल दूरियां बल्कि परिवार में लगाव, मधुर सम्बन्ध और बड़ों से मिलने वाले संस्कार भी धूमिल हो रहे हैं। चाहे वह सम्बंध मां बेटे, मां बेटी, पिता पुत्र या पुत्री, भाई बहन और पति पत्नी के संबंध हों। यदि आपका संयुक्त परिवार है तो आप देखें, आप जब घर पर होते हैं तब, और जब आप फ्री हैं तब भी, दोनों समय आप बहुत बीजी हैं। क्योंकि आपको अपने मोबाइल से ही फुर्सत नहीं है। ऐसे में न तो कोई आपसे अपने मन की बात करने की साहस करेगा और न ही आपको परिवार के दु:ख सुख सुनने की टेंशन होगी। इसके अलावा राहू ससुराल है। राहू वह धमकी है जिससे आपको डर लगता है । जेल में बंद कैदी भी राहू है। राहू सफाई कर्मचारी है। स्टील के बर्तन राहू के अधिकार में आते हैं। बेटी को स्टील के बर्तन अपने मायके से नहीं ले जाने चाहिए । हाथी दान्त की बनी सभी वस्तुए राहू के रूप हैं । राहू वह मित्र है जो पीठ पीछे निंदा करता है ! दत्तक पुत्र भी राहू की देन होता है। नशे की वस्तुएं राहू हैं। दर्द का टीका राहू है। राहू मन का वह क्रोध है जो कई साल के बाद भी शांत नहीं हुआ है, न लिया हुआ बदला भी राहू है। शेयर मार्केट की गिरावट राहू है, उछाल केतु है। बहुत समय से ताला लगा हुआ मकान राहू है। बदनाम वकील भी राहू है। मिलावटी शराब राहू है। राहू वह धन है जिस पर आपका कोई हक़ नहीं है या जिसे अभी तक लौटाया नहीं गया है। ना लौटाया गया उधार भी राहू है। उधार ली गयी सभी वस्तुएं राहू खराब करती हैं। यदि आपकी कुंडली में राहू अच्छा नहीं है तो किसी से कोई चीज़ मुफ्त में न लें क्योंकि हर मुफ्त की चीज़ पर राहू का अधिकार होता है। लेने वाले का राहू और खराब हो जाता है और देने वाले के सर से राहू उतर जाता है।

राहू ग्रह का कुछ पता नहीं कि कब बदल जाए जैसे कि आप कल कुछ काम करने वाले हैं लेकिन समय आने पर आपका मन बदल जाए और आप कुछ और करने लगें तो इस दुविधा में राहू का हाथ होता है। किसी भी प्रकार की अप्रत्याशित घटना का दावेदार राहू ही होता है। आप खुद नहीं जानते की आप आने वाले कुछ घंटों में क्या करने वाले हैं या कहाँ जाने वाले हैं तो इसमें निस्संदेह राहू का आपसे कुछ नाता है। या तो राहू लग्नेश के साथ है या लग्न में ही राहू है।यदि आप जानते हैं की आप झूठ की राह पर हैं परन्तु आपको लगता है की आप सही कर रहे हैं तो यह धारणा आपको देने वाला राहू ही है ! किसी को धोखा देने की प्रवृत्ति राहू पैदा करता है यदि आप पकडे जाएँ तो इसमें भी आपके राहू का दोष है और यह स्थिति बार बार होगी इसलिए राहू का अनुसरण करना बंद करें क्योंकि यह जब बोलता है तो कुछ और सुनाई नहीं देता। जिस तरह कर्ण पिशाचिनी आपको गुप्त बातों की जानकारी देती है उसी तरह यदि राहू आपकी कुंडली में बलवान होगा तो आपको सभी तरह की गुप्त बातें बैठे बिठाए ही पता चल जायेंगी। यदि आपको लगता है की सब कुछ गुप्त है और आपसे कुछ छुपाया जा रहा है या आपके पीठ पीछे बोलने वाले लोग बहुत अधिक हैं तो यह भी राहू की ही करामात है।

राहू रहस्य कारक ग्रह है और तमाम रहस्य की परतें राहू की ही देन होती हैं। राहू वह झूठ है जो बहुत लुभावना लगता है। राहू झूठ का वह रूप है जो झूठ होते हुए भी सच जैसे प्रतीत होता है। राहू कम से कम सत्य तो कभी नहीं है। जो सम्बन्ध असत्य की डोर से बंधे होते हैं या जो सम्बन्ध दिखावे के लिए होते हैं वे राहू के ही बनावटी सत्य हैं। राहू व्यक्ति को झूठ बोलना सिखाता है। बातें छिपाना, बात बदलना, किसी के विशवास को सफलता पूर्वक जीतने की कला राहू के अलावा कोई और ग्रह नहीं दे सकता। राहू वह लालच है जिसमे व्यक्ति को कुछ अच्छा बुरा दिखाई नहीं देता केवल अपना स्वार्थ ही दिखाई देता है। क्यों न हों ताकतवर राहू के लोग सफल? क्यों बुरे लोग तरक्की जल्दी कर लेते है। क्यों झूठ का बोलबाला अधिक होता है और क्यों दिखावे में इतनी जान होती है ? क्योंकि इन सबके पीछे राहू की ताकत रहती है। मांस मदिरा का सेवन, बुरी लत, चालाकी और क्रूरता, अचानक आने वाला गुस्सा, पीठ पीछे की वो बुराई, जो ये काम करे ये सब राहू की विशेषताएं हैं। असलियत को सामने न आने देना ही राहू की खासियत है!

उपाय– यदि आपके जीवन में ये सब बातें हैं तो जाहिर है कि आपका राहु अशुभ है। इसे शुभ करने के लिए Rahu silver yantra locket धारण करें। अथवा “सिद्ध गोमेद लॉकेट” (गुरूजी द्वारा सिद्ध किया हुआ) shukracharya.com पर ऑर्डर करके मंगवा लीजिए। सर्प गायत्री मन्त्र का नित्य जाप करें। शनिवार सन्ध्या के वक्त काले कपड़े में लोहे की कीलें तथा कच्चा कोयला बांध कर बहते जल में बहाएं। किसी मन्दिर या पवित्र जगह पर मूली का दान करें। इन उपायों से राहु के अशुभ फल में कमी होती है।

मेरे और लेख देखें :- Aapkabhavishya.in, astroguruji.in,gurujiketotke.com, vaidhraj.com,shukracharya.com, rbdhawan@wordpress.com पर भी।

Advertisements

एक उत्तर दें

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  बदले )

Connecting to %s