Aap Ka Bhavishya

Dr.R.B.Dhawan

(Top Astrologer in Delhi, best Astrologer in Delhi)

Aap ka bhavishya एक एंड्रॉयड मोबाइल ऐप है, इस ऐप को लांच करने का प्रयोजन ज्योतिषीय मासिक “ई-पत्रिका” का प्रचार-प्रसार करना है। क्योंकि एक मासिक ज्योतिषीय पत्रिका के माध्यम से वैदिक विद्याओं या विषयों का प्रचार-प्रसार करना सरल है। यह प्रचार-प्रसार ज्ञानवर्धक लेखों‌ के रूप में पाठकों तक पहुंचाने का कार्य Aap Ka Bhavishya मासिक ज्योतिषीय “ई-पत्रिका” कर सकती है, इस ऐप के माध्यम से “Aap Ka Bhavishya” e-magazine के 12 अंक एक वर्ष में प्रकाशित लिए जाते हैं, इस लिए कोई भी Subscriber’s एक वर्ष के लिए इस Astrological Magazine की Subscription ले सकता हैं।
गुरुजी (Dr.R.B.Dhawan) ने “आप का भविष्य” हिन्दी मासिक ज्योतिषीय पत्रिका का प्रकाशन एवम् संपादन 2000 ईसवी सन् के जनवरी महिने से आरंभ किया था। 2000 से 2016 तक यह मैगजीन प्रिंट करके publish की जाती रही है, जो कि अब वर्ष 2017 से e-magazine के रूप में हर माह प्रकाशित हो रही है। गुरुजी का मानना है की “ज्योतिष विद्या” मनुष्य को भविष्य के लिए उपयोगी मार्गदर्शन देती रही है, साथ ही साथ ज्योतिष विज्ञान की सहायता से मनुष्य अपने भविष्य के लिए ठीक से planning भी कर सकता है। देखा जाए तो ज्योतिष ही एकमात्र ऐसा विज्ञान है, जो हमें हमारे भविष्य का संकेत देते हुए भविष्य के लिए उचित मार्गदर्शन देकर हमारी सहायता कर सकता है। ये विद्या हमारे ऋषियों-मुनियों के सैकड़ों वर्षों की खोज का परिणाम या उपलब्धि है। हमारे इन भविष्य-दृष्टा ऋषियों-मुनियों ने मानव जाति के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्होंने मानव जाति के विकास के लिए सैकड़ों विद्याओं को विकसित किया है, जिन्हें हम आज भी किसी ना किसी रूप में प्रयोग कर रहे हैं।
इस ज्योतिषीय पत्रिका Aap Ka Bhavishya में इन सभी वैदिक विद्याओं के आलेख प्रकाशित किए जाते रहे हैं, वे विद्या चाहे ज्योतिष हो, या आयुर्वेद अथवा मंत्र शास्त्र मनुष्य के आर्थिक-मानसिक-शारीरिक विकास में इनका एक महत्वपूर्ण स्थान रहा है, और इस क्रम का बने रहना आवश्यक है, इसी लिए गुरुजी का मानना है कि, जब तक जीवन है, तब तक मानव जाति को ऋषियों-मुनियों की इस धरोहर का लाभ पहुंचना एक श्रेष्ठ कार्य होगा। और अपने इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए गुरुजी Dr.R.B.Dhawan निरंतर इस प्रकाशन-संपादन के कार्य में अपना अधिकतम समय देते हैं। गुरुजी का मानना है कि अब समय आ गया है कि, इन सभी विद्याओं को नई Tachnology से जोड़ा जाए। “आप का भविष्य” को “ई-पत्रिका” में परिवर्तित करना इसी श्रंखला की एक कड़ी है, गुरुजी के इस पुनीत कार्य में Para Digital Technologies के सहयोग को कभी भुलाया नही जा सकता। जिस कम्पनी ने Aap Ka Bhavishya ज्योतिषीय पत्रिका को “ई-पत्रिका” का रूप देते हुए इस App की रचना और डिजाइन किया है, इस कार्य के लिए Mr. Pradeep Dhawan द्वारा की गई मेहनत सराहनीय है। इन्होंने अथक परिश्रम करते हुए अपना कीमती समय लगाया है। Para Digital Tachnology और Mr.Pradeep Dhawan जी के इस विशेष योगदान के लिए Shukracharya संस्थान सदा आभारी रहेगा।
Aap Ka Bhavishya App :- “आप का भविष्य” एप जो कि “ई-पत्रिका” है, आप गूगल प्ले स्टोर से अपने एन्ड्रोएड फोन में डाउनलोड कर सकते हैं। डाउनलोड करके आप तीन महीने के अंक फ्री देख सकते हैं, शेष सभी अंकों को देखने के लिए आपको Subscription लेनी होगी। Subscribe करने के लिए 180/- वार्षिक फीस आनलाइन पे करने की सुविधा इस एप में है। एक वर्ष की मेम्बरशिप लेकर हर माह (12 माह तक) नया और पहले सभी अंकों को रीड कर सकते हैं।

मेरे और लेख देखें :- Aapkabhavishya.in, astroguruji.in, gurujiketotke.com,vaidhraj.com,shukracharya.com, rbdhawan@wordpress.com

दीपावली तंत्र-मंत्र विशेषांक

संपादक :- Dr. R.B.Dhawan

(Top Astrologer in Delhi, best Astrologer in Delhi)

“आप का भविष्य” मासिक ज्योतिषीय ई-पत्रिका अक्तूबर 2017 अंक :- “दीपावली तंत्र-मंत्र विशेषांक” Deepawali tantra mantra viseshank जिसमें आप पाएंगे दीपावली पर सिद्ध किए जाने वाले आर्थिक समृद्धि तथा जीवनोपयोगी अनेक सरल प्रयोग।
इस अंक की विशेष बात यह है कि, ज्योतिष विज्ञान व तंत्र विज्ञान में रुचि रखने वाले पाठकों के लिए यह कहना ठीक होगा कि, वे पूरा वर्ष दीपावली पर प्रकाशित होने वाले इस अंक की बेसब्री से प्रतीक्षा करते हैं। इस अक्तूबर आप ई-पत्रिका “आप का भविष्य” Diawali tantra mantra की Subscription ले ही लीजिए, बेशक आप अक्तूबर 2017 अंक से सितम्बर 2018 अंक तक की Subscription ले सकते हैं। Deepawali Tantra Mantra viseshank अक्तूबर अंक केवल तंत्र मंत्र विशेषांक ही नहीं अपितु आप के लिये बहुत उपयोगी भी है। इस अंक में गुरूजी ने आप के लिये अनेक सरल प्रयोग एवं उपाय प्रकाशित किए हैं, जिनमें से एक प्रयोग (सरल उपाय) आपने सिद्ध कर लिया तो आप इस विद्या की प्रशंसा करते नहीं थकेंगे।
तंत्र-मंत्र से संबंधित अनेक कार्य एेसे होते हैं, जो पर्वकाल में ही सिद्ध हो सकते हैं, कुछ समस्याएं होती ही एेसी हैं, जिनकी चर्चा किसी से भी नहीं कर सकते। परंतु उनका जल्दी ही समाधान न किया जाए तो वे और भी जटिल होती चली जाती हैं। आज का युग तड़क-भड़क और दिखावे का युग बनकर रह गया है, इसके प्रभाव वश अनेक युवक किसी सुन्दर युवती को देखकर मचलने लगते हैं, आजकल के हालात को देखकर तो लगता है, कुछ युवतियों का लक्ष्य दूसरी महिला मित्र के पति पर डोरे डालने का ही हो गया है। इस समस्या से पीड़ित अनेक महिलाएं तो किसी को बताना भी ठीक नहीं समझती, और यह ठीक भी है, बताकर भला अपने पति की इज्जत क्यों खराब की जाये?
इसी प्रकार कुछ ईष्यालु लोग व्यापार करने वाले अपने दूसरे प्रतिद्वंद्वी पर कोई एेसा तंत्र कर देते हैं, जिसके प्रभाव से प्रतिद्वंद्वी का व्यापार ठप हो जाता है, नौकरी करने वालों को भी कभी-कभी एेसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।
गुरूजी का कहना है, एेसी समस्याओं का समाधान आप स्वयं कर सकते हैं। अक्तूबर 2017 “आप का भविष्य” diwali Tantra Mantra अंक इसी लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए प्रकाशित किया गया है।

आज ही Aap Ka Bhavishya app डाउनलोड कीजिए और केवल 180/- में एक वर्ष (12 अंक) के लिये Subscription लीजिए।

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.pdt.akb

_____________________________________________

मेरे और लेख देखें :- Aapkabhavishya.in, astroguruji.in, gurujiketotke.com,vaidhraj.com,shukracharya.com, rbdhawan@wordpress.com